🌟laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती – समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा 2024🌟

Share

मैं स्वयं को दीपावली रात को गया हुआ लक्ष्मी जी की आरती गाते हुए याद करता हूं, पटाखों की ध्वनि और सुंदर दीयों की चमक के बीच। प्रति दीपावली, सभी परिवार के सदस्य अपने गाँव वापस लौटते हैं ताकि वे इस खुशीभर त्योहार को मिलकर मनाएं और साथ में खुशहल क्षणों को साझा करें। रात को हम सभी घर की वेरंडा में इकट्ठा होते हैं और आरती के दौरान घंटी बजाते हैं, आरती थाल को हिलाते हैं, हाथों की तालियों को बजाते हैं, और गाने के शब्दों को बुलंद आवाज़ में चंदन की खुशबू के साथ चंदन करते हैं। पूरा घर भक्ति और श्रद्धा से भर जाता है। यह भारतीय घरों की कहानी है। दीपावली के दिन, भगवान लक्ष्मी जी की आरती की धुन हर घर में सुनी जा सकती है।

🎥 यहाँ सुने: Daily Chants
क्रेडिट: Daily Chants

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : लक्ष्मी जी की आरती

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता ॥

🕉🌺🙏

उमा, रमा, ब्रम्हाणी, तुम ही जग माता । सूर्य चद्रंमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🌸🌞🌙

दुर्गा रुप निरंजनि, सुख-संपत्ति दाता । जो कोई तुमको ध्याता, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🌺💰🙌

तुम ही पाताल निवासनी, तुम ही शुभदाता । कर्म-प्रभाव-प्रकाशनी, भव निधि की त्राता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🏠🌈💫

जिस घर तुम रहती हो, ताँहि में हैं सद्‍गुण आता । सब सभंव हो जाता, मन नहीं घबराता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🏡🌟🌼

तुम बिन यज्ञ ना होता, वस्त्र न कोई पाता । खान पान का वैभव, सब तुमसे आता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🍚🍛💎

शुभ गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि जाता । रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🕌🌈💎

महालक्ष्मी जी की आरती, जो कोई नर गाता । उँर आंनद समाता, पाप उतर जाता ॥ ॥ॐ जय लक्ष्मी माता…॥

🌸🙏🎶

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता ॥

🌺🕉🙏

laxmi aarti : लक्ष्मी जी की आरती

laxmi aarti : लक्ष्मी जी की आरती – समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

इस ब्लॉग के माध्यम से हम आज लक्ष्मी जी की आरती के महत्व, महत्ता और सही तरीके को समझने का प्रयास करेंगे। पर इससे पहले, चलिए जानते हैं, देवी लक्ष्मी के बारे में और वह कौन हैं? वह क्या प्रतिष्ठित करती है? लोग उसे क्यों पूजते हैं?

laxmi aarti : देवी लक्ष्मी कौन है?

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

उनकी कृपा, सौंदर्य और धन के लिए जानी जाने वाली देवी लक्ष्मी हिन्दू धर्म में सबसे प्रमुख देवियों में से एक हैं। जबकि उसके कई गुणों से जुड़े हैं, उसे सामर्थ्य, धन, आनंद और सौंदर्य की देवी के रूप में महत्वपूर्ण रूप से देखा जाता है। गोष्टी त्रिदेवी त्रिमूर्ति का महत्त्वपूर्ण हिस्सा मानी जाती है, जो देवी सरस्वती और देवी पार्वती के साथ हैं, उसे ग्रह शुक्र के स्वरूप के रूप में भी देखा जाता है।

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

देवी लक्ष्मी की छवि वास्तविक और शक्तिशाली लगती है, वह या तो कमल के फूल पर बैठी हुई या खड़ी हैं, जिनके हाथों में दो और कमल के फूल हैं। हिन्दू सांस्कृतिक में, कमल के फूल को गुण, आत्म-साक्षात्कार और पवित्रता का प्रतीक माना जाता है। भारत के विभिन्न हिस्सों में पाए जाने वाले इन फूलों को कठिन परिस्थितियों में भी बढ़ते हूंगे, सूखे और वायु प्रदूषण का सामना करते हूंगे। आध्यात्मिकता में, ये सिखाते हैं कि अच्छा बुरे पर भारी होता है बिना किसी अवसाद का प्रभावित होते हूं। अपने बढ़ाए हुए हर हाथ में दो कमल के फूलों को पकड़ते हुए, देवी लक्ष्मी कभी भी श्रीमान और सदैव अपने प्रिय पति भगवान विष्णु की सुरक्षा करती हैं, जिससे उन्हें ब्रह्मांड को विकसित करने में समर्थता मिली।

laxmi aarti : इसके अलावा, वह हिन्दू धर्म में सामग्री समृद्धि को नियंत्रित करने वाली देवी के रूप में सबसे अच्छे रूप में जानी जाती है।

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : लक्ष्मी जी की आरती के बारे में सब कुछ

laxmi aarti : लक्ष्मी जी की आरती एक बहुत ही पॉपुलर आरती है। इसका संदेश धन और समृद्धि की इच्छा के साथ इस प्रकार है:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

देवी लक्ष्मी जी की आरती का अनुवाद:

ॐ! माता लक्ष्मी, भगवान विष्णु आप पर प्रतिदिन ध्यान करते हैं। मैं आपके सामने झुकता हूं। माँ, आप पर जय हो, आप पर जय हो।

आप भगवान ब्रह्मा, भगवान रुद्र और भगवान विष्णु की सहचरी हैं और सम्पूर्ण जगत की मां हैं। आप उमा, रमा और ब्रह्माणी के रूप में जगत माता हैं। सूर्य और चंद्रमा आप पर ध्यान करते हैं, और नारद ऋषि आपकी स्तुति गाता है। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

आप माँ दुर्गा के रूप में हैं और आप खुशी और धन का दाता हैं। जो भी आपकी ध्यान करता है और आपकी पूजा करता है, वह ऋद्धि और सिद्धि प्राप्त करता है। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

आप ही पाताल निवासिनी हैं, आप ही शुभदाता हैं। कर्म-प्रभाव-प्रकाशनी, भव निधि की त्राता। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

_जिस घर आप रहती हैं, वहाँ में हैं सद्गुण आता है। सब सभंव हो जाता है, मन नहीं घबराता। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।_

तुम बिना यज्ञ नहीं होता, वस्त्र न कोई पाता। खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

शुभ गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि जाता। रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

महालक्ष्मी जी की आरती, जो कोई नर गाता। ऊँच आनंद समाता, पाप उतर जाता। माँ, मैं आपके सामने झुकता हूं।

ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता। तुमको निसदिन सेवत, हर विष्णु विधाता।

लक्ष्मी जी की आरती – समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

इस आरती का हर श्लोक एक विशेष उद्देश्य, शक्ति और अर्थ रखता है। इस आरती को नियमित रूप से पढ़ना या देवी की पूजा करना भक्त के जीवन में धन और समृद्धि की प्रवाह को सुनिश्चित करता है। इसके अलावा, आरती गाने से ये लाभ प्राप्त हो सकते हैं:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

  • यह शुभ फल और धन लाता है।
  • यह शारीरिक स्वास्थ्य में शुद्धि लाता है। यदि आप नियमित रूप से इस आरती का जाप करते हैं, तो आपकी सेहत में बड़ा सुधार देखा जाएगा।
  • आरती का पठन आपके चारित्र, मन, और आत्मा के बीच संरेखन बनाता है।
  • आरती का पठन भक्ति को बढ़ाता है, जिससे मानसिक शांति मिलती है।
  • देवी के प्रति विश्वास एक व्यक्ति को बहुत शक्ति प्रदान करता है और उसे अपने जीवन की दिनचर्या को बेहतर तरीके से सामना करने में मदद करता है।
  • इसे घर या कार्यस्थल में गाने से वातावरण को शुद्ध करता है और सकारात्मक ऊर्जा भरता है।

laxmi aarti : श्री लक्ष्मी जी की आरती क्यों महत्वपूर्ण है?

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

अब तक, हमने सीखा है कि देवी लक्ष्मी सौभाग्य, धन, और शांति की देवी के रूप में मानी जाती है। वह आदि शक्ति का रूप है, जो हमें मेहनती और कम अहंकार बनने की शिक्षा देती है।

laxmi aarti : भविष्य के तेज़ चमकते हुए जगत में, लोभी और औरंगजेब हो जाना आसान है। हालांकि, कम से कम एक दिन में एक बार देवी लक्ष्मी की पूजा करना आपको ज़मीन पर बनाए रखने में मदद करेगा। वह मेहनत की सराहना करती है और आपकी पूजा में आनंद लेने के लिए यही सबसे अच्छा है।


मेरी भक्ति और प्रेम से लिपटी माता लक्ष्मी की आरती:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : जब भी मैं दीपावली की रात में गोदियों के बीच बैठकर देवी लक्ष्मी जी की आरती पढ़ता हूँ, तो मेरा मन भी दीपकों की चमक, दीपावली की शोरगुल, और धूप की खुशबू से भर जाता है। पूरे घर में एक विशेष भव्यता और श्रद्धाभाव का आलंब बिखर जाता है।

देवी लक्ष्मी जी – सौभाग्य की दुल्हन:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : ग्रहणशीलता, सौंदर्य, और धन की देवी – ये सभी शब्द ही व्यक्त करते हैं माता लक्ष्मी की महत्ता को। वह सिर्फ धन की दुल्हन नहीं हैं, बल्कि विष्णु के साथ अपने पति के साथ प्रेम में बद्ध भी हैं। उनकी मुस्कान से ही चारों ओर आनंद है, और उनका आभूषण है, तो हर हृदय की धड़कन भी है।

लक्ष्मी जी की आरती से मिलने वाले आनंद:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : यह आरती का पाठ करने से हमारी आत्मा शांति और सुख की ओर मुड़ती है। दीपावली की रात, जब आरती की ध्वनि घर को धार्मिक और आध्यात्मिक ऊर्जा से भर देती है, तो हम अपने जीवन को साकार और निराकार दोनों पहलुओं से जोड़ते हैं।

लक्ष्मी जी की आरती का महत्वपूर्ण तात्पर्य:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : यह आरती हमें सिखाती है कि अपने कार्यों में मेहनत करना और धन का सही उपयोग करना ही सच्ची समृद्धि का कुंजी है। धन सिर्फ भौतिक समृद्धि का स्रोत नहीं होता, बल्कि यह हमें आत्मिक और आध्यात्मिक समृद्धि की ओर प्रवृत्ति करता है।

धन, आनंद, और सुख का स्रोत – लक्ष्मी जी:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti : माता लक्ष्मी की आरती पढ़ना हमें यह बताता है कि धन को सही दिशा में ले जाने के लिए मेहनत करना जरूरी है, लेकिन धन का सही तरीके से उपयोग करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

आरती का समापन:

laxmi aarti: लक्ष्मी जी की आरती - समृद्धि, सौभाग्य और समृद्धि का दरवाजा  tak update

laxmi aarti :

इसलिए, जब भी मैं दिव्य आरती गाता हूं, मेरा मन भी आराधना, श्रद्धा, और प्रेम से भरा होता है। माता लक्ष्मी जी की आरती हमें एक ऊँची और सफल जीवन की दिशा में मार्गदर्शन करती है, हमें साधना करती है कि धन का सही उपयोग करने से ही असली समृद्धि होती है। माता लक्ष्मी, आपकी कृपा से ही जीवन में खुशियाँ बहरे रहती हैं। मैं आपकी आरती के शब्दों में खो जाता हूं, और आपकी कृपा का अनुभव करता हूं। आपकी आरती गाने से ही मेरा मन शान्ति और सुकून से भरा हो जाता है। आपकी महिमा के सामर्थ्य से ही मैंने अपने जीवन को संपन्न और समृद्धिशील महसूस किया है। आपके चरणों में मेरा सर्वस्व समर्पित है, और आपसे मिली शक्ति से ही मैं अपने लक्ष्यों की प्राप्ति कर पाता हूं। माता, आपका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ है, और मैं आपके आदर्शों का सानिध्य अपने जीवन में बनाए रखने का प्रयास करता हूं। धन्यवाद, माता लक्ष्मी, आपकी अनंत कृपा के लिए। 🙏💐 आपके प्रकाशमय आभास से मेरे जीवन में नई उम्मीदें और संभावनाएं पैदा हो रही हैं। आपकी आराधना से मेरी भक्ति और श्रद्धा में वृद्धि हो रही है, और मैं आपके चरणों में अपना संपूर्ण विश्वास रखता हूं। माता, आपका आशीर्वाद मेरे जीवन को एक नए स्तर पर ले जा रहा है। आपकी कृपा से मैं अपने कार्यों में सफलता प्राप्त कर रहा हूं और आपकी संगति से ही मेरा मार्ग प्रशस्त हो रहा है। आप हमेशा मेरे साथ हैं, मेरी सुरक्षा करती हैं और मेरे जीवन को शान्ति और समृद्धि से भर देती हैं। मैं आपके चरणों में समर्पित हूं और आपसे प्राप्त आशीर्वाद के लिए कृतज्ञ हूं। माता लक्ष्मी, आपकी कृपा से ही हम सभी को धन, समृद्धि और खुशियों से भरा जीवन प्राप्त होता है। आपके प्रति मेरा कृतज्ञता और भक्ति अनवरत बढ़ता रहे। 🙏💖

गोदेस लक्ष्मी जी की आरती – समृद्धि, सौभाग्य, और समृद्धि का दरवाजा

शीर्षकगोदेस लक्ष्मी जी की आरती – समृद्धि, सौभाग्य, और समृद्धि का दरवाजा
आरती गायकमैं हर बार गोदेस लक्ष्मी जी की आरती को गाता हूं, उस ध्वनि में हर दिन एक नए आशीर्वाद का अहसास होता है।
आरती के शैलीयह आरती हमें श्रद्धा और प्रेम के साथ गोदेस लक्ष्मी की पूजा करने का तरीका सिखाती है।
गोदेस लक्ष्मी की महत्तादीपावली की रात, जब आरती की ध्वनि घर को धार्मिक और आध्यात्मिक ऊर्जा से भर देती है, तो हम अपने जीवन को साकार और निराकार दोनों पहलुओं से जोड़ते हैं।
गोदेस लक्ष्मी की आरती का महत्वइस आरती से हमें सिख मिलती है कि धन को सही दिशा में ले जाने के लिए मेहनत करना जरूरी है, लेकिन धन का सही तरीके से उपयोग करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है।
धन, आनंद, और सुख का स्रोतगोदेस लक्ष्मी की आरती हमें यह बताती है कि धन को सही दिशा में ले जाने से ही असली समृद्धि होती है।

धन्यवाद, माता लक्ष्मी, आपकी कृपा के लिए!

माता लक्ष्मी जी की आरती – सवाल-जवाब:

  1. प्रश्न: माता लक्ष्मी कौन हैं?
    • उत्तर: मातालक्ष्मी, हिन्दू धर्म की सबसे महत्त्वपूर्ण देवीयों में से एक हैं। उन्हें धन, सौभाग्य, आनंद, और सौंदर्य की देवी माना जाता है।
  2. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती क्यों महत्त्वपूर्ण है?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती का पाठ करने से हम उनकी कृपा, आशीर्वाद, और सुख-शांति की प्राप्ति के लिए प्रार्थना करते हैं, जिससे हमारा जीवन समृद्धि से भरा रहता है।
  3. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती का पाठ कैसे करें?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती को उच्च भावना, श्रद्धा, और प्रेम के साथ पढ़ें। पूजा में स्वयं को विनम्रता से समर्पित करें और सभी आरती सामग्री का उपयोग करें।
  4. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती के क्या लाभ हैं?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती का प्रतिदिन पाठ करने से धन, सौभाग्य, और आनंद की बौछार होती है। इसके अलावा, यह हमें आत्मिक और आध्यात्मिक समृद्धि प्रदान करती है।
  5. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती की विशेषता क्या है?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती का पठन हमें धन का सही उपयोग करने की शिक्षा देता है और साथ ही हमें आत्मिक समृद्धि की दिशा में मार्गदर्शन करता है।
  6. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती की ध्वनि कैसा असर करती है?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती की ध्वनि से घर में एक अद्वितीय और शांतिपूर्ण वातावरण बनता है, जो हमें आत्मा, मन, और शरीर को मिलाकर शक्ति देता है।
  7. प्रश्न: माता लक्ष्मी जी की आरती का पाठ कब करें?
    • उत्तर: माता लक्ष्मी जी की आरती का पाठ दीपावली के दिन, या हर शुक्रवार को किया जा सकता है, क्योंकि इस दिन को गोदेस लक्ष्मी का दिन माना जाता है।

धन्यवाद, माता लक्ष्मी के प्रति हमारी श्रद्धा के लिए!

Read also : Ram Navami: एक आत्मा को पवित्रता की ऊंचाई पर ले जाने वाला दिन 🌟

Read also : Ayodhya Ram Mandir: विज्ञान करेगा मंदिर की 2,000 साल तक बनी रहने की निगरानी ?🕍🔬 yes

Read also : Basant Panchami 2024: विद्या की देवी, मां सरस्वती के आगमन का उत्सव!🌸📅🎶

Read also : Masik Shivratri, Pradosh Vrat: प्रदोष व्रत और मासिक शिवरात्रि एवं कथा: शिव भक्ति में विशेष उपाय 2024

Darvesh Khari, a seasoned journalist with notable contributions to Aaj Tak, embodies integrity in his profession. Throughout his tenure, he has consistently championed the cause of true and unbiased news. His commitment to journalistic ethics makes him a trusted figure, emphasizing the importance of authentic reporting in today's media landscape.

Leave a comment